Posts

Showing posts from February, 2022

जीप इंडिया ने पेश की कम्पास ट्रेलहॉक

कीमत 30.72 लाख रुपये से शुरू  वाहन निर्माता जीप इंडिया ने रविवार को देश में नई जीप कम्पास ट्रेलहॉक पेश की, जिसकी शुरूआती शोरूम कीमत 30.72 लाख रुपये है। यह मॉडल जीप कम्पास का खराब इलाकों में भी चलने लायक आॅफ-रोड संस्करण है। इसके अलावा यह प्रीमियम इंटीरियर से भी लैस है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि मॉडल का बेहतर सस्पेंशन इसे 19 इंच तक गहरे पानी में भी चलने में सक्षम बनाता है जिससे यह जीप कम्पास की तुलना में आॅफ-रोड ड्राइविंग के लिए बेहतर है। जीप कम्पास ट्रेलहॉक दो लीटर डीजल पावरट्रेन इंजन के साथ आता है, जो 170 एचपी और 350 एनएम की ताकत पैदा करता है। यह इंजन नौ स्पीड आॅटोमैटिक गियरबॉक्स के साथ आता है।

यूक्रेन के आसमान में रूसी सैनिकों का काल बना 'भूत', मार गिराए रूस के कई फाइटर जेट

Image
 रूस और यूक्रेन के बीच भीषण जंग हो रही है। दोनों देशों के बीच लड़ाई का चौथा दिन है। रूस की सेना ने यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर खारकिव में घुस चुकी है।  रूस अब यूक्रेन की राजधानी कीव पर कब्जे की तैयारी कर रहा है। रूसी सेना ने राजधानी कीव की चारों तरफ से घेराबंदी की है। इस जंग के बीच 'कीव के भूत' की खूब चर्चा हो रही है।  दरअसल यह भूत कोई और नहीं है बल्कि यूक्रेन का बहादुर ाइटर पायलट है। यूक्रेन के नागरिकों का मानना है कि यह पायलट देश का हीरो है। लड़ाई शुरू होने के बाद यह पायलट रूस दस्ते में भयानक तबाही मचा चुका है। इस पायलट ने अब तक रूस के छह फाइटर प्लेन को मार गिराया है। इस पायलट ने रूस को भारी नुकसान पहुंचाया है। एक यूक्रेन का पायलट राजधानी कीव के ऊपर उड़ान भर रहा है और अपनी साहस का प्रदर्शन कर रहा है। इस पायलट ने रूस को भारी नुकसान पहुंचाया है। जंग के हालात में इन कहानियों पर यकीन नहीं होता है, लेकिन कई मीडिया रिपोर्ट्स में इस भूत के बारे में दावे किए जा रहे हैं।  यूक्रेन के एक पत्रकार ने लिखा है कि मैंने दो यूक्रेनी विमानों को कीव की तरफ जाते हुए और वहां से आते हुए देखा है। उन

LIC IPO को हिट कराने के लिए बड़ा फैसला

  20% FDI पर मोदी सरकार की मुहर ऑटोमैटिक रूट से 20% FDI को मंजूरी LIC Act से इंश्योरेंस कंपनी का होता है परिचालन  केंद्रीय कैबिनेट (Union Cabinet) ने LIC के जल्द आने वाले आईपीओ (LIC IPO) में 20 फीसदी फॉरेन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट (FDI) की अनुमति शनिवार को दे दी. न्यूज एजेंसी 'पीटीआई' ने सूत्रों के हवाले से ये रिपोर्ट दी है. इस फैसले का मकसद देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी के विनिवेश (Disinvestment) की प्रक्रिया को सुचारू बनाना है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में आयोजित कैबिनेट की बैठक में LIC में ऑटोमैटिक रूट से 20 फीसदी एफडीआई के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई. सरकार IPO के जरिए LIC में अपनी पांच फीसदी हिस्सेदारी बेचकर करीब 63 हजार करोड़ रुपये जुटाएगी.  इस वजह से किया गया फैसला LIC भारत की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी है. इसलिए यह स्वाभाविक है कि विदेशी कंपनियां भी इस मेगा आईपीओ में हिस्सा लेना चाहती होंगी. हालांकि, वर्तमान एफडीआई नियमों में LIC में विदेशी निवेश को लेकर कोई स्पष्ट प्रावधान नहीं है. इसकी वजह यह है कि LIC का परिचालन LIC Act, 1956 के जरिए होता है. विदेशी निवेशक दि

Impact

 Demo Blog For Impact

5 वर्ष में आएंगे 50 चीता

Image
नई दिल्ली। 1952 में विलुप्त हो जाने के बाद चीता एक बार फिर भारत में नजर आने के लिए तैयार हैं। केंद्र सरकार ने एक कार्य योजना की घोषणा की है जिसके तहत अगले पांच वर्ष में 50 चीता देश में लाए जाएंगे। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) की 19वीं बैठक में कार्य योजना की शुरूआत करते हुए कहा, स्वतंत्र भारत में विलुप्त हो चुके चीता भारत में वापसी के लिए तैयार हैं। एनटीसीए के एक अधिकारी ने पहले कहा था कि चीता को फिर से लाने की योजना कोविड-19 के कारण अधर में लटक गई थी।  नामीबिया या दक्षिण अफ्रीका से किया जाएगा आयात कार्य योजना के अनुसार, लगभग 10-12 युवा चीतों का एक समूह जो पुन: प्रजनन के लिए आदर्श होगा, को पहले वर्ष के दौरान नामीबिया या दक्षिण अफ्रीका से एक संस्थापक पशु धन के रूप में आयात किया जाएगा। तीन सौ पन्नों की कार्य योजना में कहा गया, जंगली नर पशुओं के एक मौजूदा समूह का चयन किया जाएगा, जबकि कोशिश की जाएगी कि चयनित मादाएं भी एक-दूसरे से परिचित हों।  

10 साल में कोरोना से भी बड़ा खतरा बनेगा क्लाइमेट चेंज

Image
  ग्लोबल रिस्क रिपोर्ट में जैव विविधता व संक्रामक रोग भी संकट की सूची में शामिल नई दिल्ली। ग्लोबल रिस्क रिपोर्ट 2022 के मुताबिक अगले 10 साल में पर्यावरण में बदलाव दुनिया के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकता है। इस समस्या को रिस्क रिपोर्ट में टॉप पर रखा गया है। रिपोर्ट में क्लाइमेट चेंज से जुड़े खतरों को प्रमुखता से जगह दी गई है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि मौजूदा कोरोना वायरस महामारी से भी कहीं ज्यादा बड़ा खतरा क्लाइमेट चेंज बन सकता है। इसके अलावा रिपोर्ट में क्लाइमेट चेंज के बाद जैव विविधता की हानि, सामाजिक एकता में कमी, आजीविका संकट व संक्रामक रोग का स्थान है। 2 से 5 साल में इन समस्याओं से होगा सामना रिपोर्ट के मुताबिक आने वाले दो वर्षों में अस्थिर मौसम, जीवन यापन से जुड़ी समस्या, सामाजिक एकता में कमी , मानसिक स्वास्थ्य में गिरावट, खतरनाक बीमारियां जैसी समस्याएं बढ़ सकती हैं, वहीं 2 से 5 साल के बीच दुनिया को डेट क्राइसिस, इंसान द्वारा पर्यावरण को नुकसान, साइबरसिक्योरिटी और बायोडाइवर्सिटी से संबंधित खतरों का सामना करना पड़ सकता है।  टेक्निकल प्रोग्रेस के साईड इफेक्ट भी आएंगे सामने ग्लोबल रिस्क रिपो

आॅस्ट्रेलिया में दिखा दुर्लभ 'कंबल' आॅक्टोपस

Image
क्वींसलैंड। कुदरत के गर्भ में ऐसे ऐसे रहस्यमयी और दुर्लभ चीजें छिपी हैं, जिन्हें देखकर इंसान हैरान होता रहता है। आॅस्ट्रलिया में करीब 20 साल बाद एक ऐसा ही दुर्लभ आॅक्टोपस मिला है, जिसे देखकर वैज्ञानिक खुश हैं। इस महीने की शुरूआत में जैसिंटा शैकलटन ने समुद्र के अंदर दुर्लभ माने जाने वाले कंबल आॅक्टोपस को ना सिर्फ देखा, बल्कि उसका वीडियो भी बनाया है।  क्वींसलैंड में मिला दुर्लभ आॅक्टोपस जैसिंटा शैकलटन दुनिया की जानी मानी समुद्री जीवविज्ञानी हैं और वो ग्रेट बैरियर रीफ में लेडी इलियट द्वीप के तट पर स्नॉर्कलिंग कर रही थी, जब उन्होंने पहली बार इस दुर्लभ कंबल आॅक्टोपस को देखा। ये आॅक्टोपस इसलिए दुर्लभ माना जाता है, क्योंकि ये कई रंगों से मिलकर बना होता है और इसकी आबादी काफी कम है। पिछली बार साल 2002 में इस आॅक्टोपस को देखा गया था। क्वींसलैंड के पर्यटन और आयोजनों के लिए कंटेट क्रिएटर के तौर पर का करने वालीं शैकलटन ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में इस दुर्लभ आॅक्टोपस का वीडियो और कुछ तस्वीरें शेयर की हैं, जो देखने में काफी ज्यादा मनमोहक है।   दुर्लभ आॅक्टोपस को देख उत्साहित लोग इस दुर्लभ आॅक्टोपस क

मारुति सुजुकी के न्यू एज बलेनो का ग्लोबल प्रीमियर

Image
तकनीक बनी दबंग मारुति सुजुकी के न्यू एज बलेनो का ग्लोबल प्रीमियर टेक्नोलॉजी द्वारा चालित : प्रौद्योगिकी रूप से ढेरों उन्नत विशेषताओं से सुसज्जित, जैसे कि : अपने सेगमेंट में प्रथम :    - आकर्षक और सुरक्षित ड्राइव अनुभव के लिए हेड अप डिस्प्ले (एचयूडी)    - आस-पास के परिवेश के व्यापक 3डी व्यू के लिए 360 व्यू कैमरा, जो सुरक्षित पार्किंग और मैन्युवरिंगकी                   क्षमता देता है   - अंत:स्थापित नेक्सट जनरेशन सुजुकी कनेक्ट टेलीमैटिक्स सिस्टम, जिसमें है बेमिसाल अनुभव के लिए                     अलेक्सा स्किल और अनुकूल स्मार्ट वाच  के माध्यम से ऐक्ससेस सहित 40 से अधिक कनेक्टिविटी फीचर्स - एचडी डिस्प्ले, सराउंड सेंस के साथ अर्कामिस द्वारा चालित बिलकुल नया  22.86 से.मी. (9 इंच) स्पमार्ट प्ले              प्रो+ इंफोटेनमेंट सिस्टम बिलकुल नयी नेक्ससा डिजाइन लैंग्वेज की पेशकश : क्राफ्टेड फ्युचरिज्म अतुल्य सुरक्षा : न्यू एज बलेनो 6 एयरबैग्स (ड्राईवर, को-ड्राईवर, साइड और कर्टेन), हिल होल्ड असिसट के साथ इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी प्रोग्राम (ईएसपी), इबीडी के साथ एबीएस, हाई स्पपीड अलर्ट सिस्टम, ड्