राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट परीक्षा का रिजल्ट घोषित

चयनित विद्यार्थियों को कक्षा 12वीं तक प्रति वर्ष 12 हजार रुपये की छात्रवृति मिलेगी 


भोपाल : सोमवार, फरवरी 17, 2020, 19:02 IST


राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति (NMMS) चयन परीक्षा 2019-2020 का परीक्षा परिणाम राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा घोषित कर दिया गया है। इस परीक्षा में शामिल हुए विद्यार्थी अपना परिणाम स्कूल शिक्षा विभाग के पोर्टल www.educationportal.mp.gov.in पर देख सकते हैं जिस पर चयनित विद्यार्थियों की श्रेणीवार सूची उपलब्ध है।


उल्लेखनीय है कि विगत 03 नवम्बर 2019 को आयोजित इस चयन परीक्षा में प्रदेश-भर के लगभग एक लाख दस हज़ार नौ सौ उन्तीस (1,10,929) बच्चे शामिल हुए थे। इनमें से मध्यप्रदेश के लिये निर्धारित कोटे के अनुसार प्रदेश के 6541 विद्यार्थी अंतिम रुप से छात्रवृति के लिये चयनित हुए हैं। राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति के तहत चयनित विद्याथियों को कक्षा 9वीं से 12वीं तक प्रति वर्ष 12,000/-रुपये की छात्रवृत्ति प्राप्त होती है।


इस परीक्षा में कक्षा आठवीं में अध्ययनरत विद्यार्थी शामिल हुए थे। चयन परीक्षा के परिणामों की घोषणा के साथ ही राज्य शिक्षा केन्द्र ने चयनित विद्यार्थियों के दस्तावेजों के सत्यापन एवं उनके बैंक एकान्ट्स की जानकारी संबंधी कार्यवाही तत्काल पूर्ण करने के लिये ज़िला शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया है।


परीक्षा में पात्र घोषित किए विद्यार्थियों को अपनी कक्षा 7वीं की अंक सूची, माता-पिता का आय प्रमाण पत्र, एस.बी.आई. या राष्ट्रीयकृत बैंक में खोले गए बचत खाते की जानकारी, कक्षा 9 वीं में नियमित रूप से अध्ययनरत होने का विहित प्रमाणीकरण, आवश्यकतानुसार जाति प्रमाण-पत्र तथा निःशक्तता प्रमाण-पत्र जैसे अभिलेख अपनी शाला में उपलब्ध करवाने होंगे। स्कूल के प्रधान पाठक विद्यार्थियों की जानकारियाँ संबंधित जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में प्रस्तुत करेंगे। तत्पश्चात विद्यार्थी/संस्था का पंजीयन राष्ट्रीय छात्रवृति पोर्टल (NSP) पर किया जायेगा। राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल पर तत्संबंधी कार्य प्रारंभ होने की तिथि से संबंधित जानकारी पृथक से प्रदान की जायेगी।


Popular posts from this blog

Madhya Pradesh Tourism hosts its first Virtual Road Show

गूगल की नई AR  टेक्नोलॉजी से अब आप अपने घर बैठे किसी भी जानवर का 3D व्यू देखिये | 

अखिल भारतीय विद्दार्थी परिषद का मुख्यमंत्री को ज्ञापन।