मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय में विश्व हिंदी दिवस मनाया गया


मध्यांचल प्रोफेशलन विश्वविद्यालय में विश्व हिन्दी दिवस मनाया गया। जिसमें मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय एवं पटेल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन के सभी विभागों के स्टाफ मेम्बर्स ने भाग लिया। इस दिवस को मनाने का मकसद दुनिया भर में हिन्दी का प्रचार - प्रसार करना है, साथ ही हिन्दी को अंतरराष्ट्रीय भाषा के रूप में स्थापित करना है। डॉ. ज्ञानेन्द्र सिंह, एडवाईजर ने सभी को बताया की विश्व हिन्दी दिवस साल 2006 में तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने 10 जनवरी को विश्व हिन्दी दिवस के तौर पर मनाए जाने की घोषणा की थी। तभी से इस दिन को विश्व हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है। मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय के प्रो वाइस चांसलर, एयर वाइस मार्सल डॉ. पी.के. श्रीवास्तव ने कहा की मुझे यह जानने में बहुत खुशी हो रही है कि अभी भी बहुत से लोग हैं जो हमारी भारतीय संस्कृति और परंपराओं को बनाये रखने में दिलचस्पी रखते हैं और हिन्दी भाषा के महत्व को आगे बढा रहे हैं, मैं यहां उपस्थित सभी लोगों से अपील करता हूँ कि अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में यथा संभव हिन्दी भाषा का उपयोग करें और लोगों के बीच इसे और अधिक व्यापक बनायें। मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. शैलेश जैन ने कहा की हम सभी को हिन्दी दिवस के इस महत्वपूर्ण दिन में हिन्दी भाषा को बढ़ावा देने का प्रण लेना चाहिए और हिन्दी भाषा के प्रति लोगों को प्रोत्साहित करना चाहिए। हमें देश के अच्छे नागरिक के रूप में अपनी भूमिका निभाना चाहिए और हिन्दी भाषा को जन-जन तक पहुँचाने की कोशिश करना चाहिए। यह दिन हमारे लिए बहुत ही गर्व का दिन है क्योंकि इसी दिन हिन्दी भाषा को देवनागिरी लिपि की मान्यता मिली थी। इस कार्यक्रम में कार्यकारी निदेशक श्री दिनेश पटेल, सी.ई.ओ. मधु मल्होत्रा, प्रो. सी.जे. वर्मा एवं सभी विभागों के डीन उपस्थित थे। अन्त में डॉ. जया शर्मा ने सभी को धन्यवाद दिया।


Popular posts from this blog

Madhya Pradesh Tourism hosts its first Virtual Road Show

गूगल की नई AR  टेक्नोलॉजी से अब आप अपने घर बैठे किसी भी जानवर का 3D व्यू देखिये | 

अखिल भारतीय विद्दार्थी परिषद का मुख्यमंत्री को ज्ञापन।