मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय युवा दिवस का आयोजन


मध्यांचल प्रोफेशलन विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय युवा दिवस के कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें सभी विभागों के छात्र-छात्राओं एवं फैकल्टी मेम्बर्स ने भाग लिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में श्री दिनेश पटेल, कार्यकारी निदेशक, डॉ. ज्ञानेन्द्र सिंह, एडवाईजर, डॉ. जी.एस. चौहान, डीन एग्रीकल्चर, प्रोफेसर सी.जे. वर्मा, डॉ. रजनीश करन, डीन इंजीनीयरींग उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरूआत डॉ. रेखा पांडे ने कि जिसमें उन्होंने सभी छात्र-छात्राओं का स्वागत किया तथा उपने विचार व्यक्त किये। डॉ. ज्ञानेन्द्र सिंह ने अपने व्याख्यान में कहा भारत देश की अधिकतर आबादी युवाओं की है और किसी भी देश का भविष्य उसके युवाओं पर ही निर्भर करता है। युवाओं के प्रतिभावान बनने से ही कोई भी देश तरक्की की ओर बढ़ता है, बल्कि देश का विकास भी सही प्रकार से होता है। डॉ. जी.एस. चौहान ने बताया की हर वर्ष भारत में 12 जनवरी के दिन को युवाओं के लिए समर्पित किया गया है और इसी दिन स्वामी विवेकानंद जी की जन्म हुआ था। स्वामी विवेकानन्द जी का कहना था कि अपना लक्ष्य निर्धारित करे और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखे। आप किसी भी लक्ष्य को पाने में तब नाकाम होते हैं जब आपके अंदर उसे पाने का जज्बा खत्म हो जाता है इसलिए आप कभी भी अपने अंदर के जज्बे को खत्म ना होने दे। प्रो. सी.जे. वर्मा ने भी बच्चों को प्रोत्साहित किया तथा उनमें प्रष्नों ने उत्तर दिये। संघर्ष जितना कठिन होगा उसमें जीत भी उतनी बड़ी होगी।