सेंट जेवियर स्कूल में एनवल डे आयोजित



30 नवम्बर 2019 को शाम 5.30 बजे सेंट जेवियर्स सीनियर सेकन्डरी स्कूल परिसर में एनवल फंकशन का आयोजन किया गया । इस कार्यक्रम की थीम नन्हे मुन्ने बच्चों से सम्बन्धित अदविक बचपन है अर्थात कक्षा 1 और 2 के छात्र -छात्राओं ने अपनी प्रतिभा को दिखाया है । बचपन खिलौने खेलने का समय है बचपन एक बुलबुले की तरह है जिसका कोई भार नहीं है । ये एक शेप अर्थात आकार देने का समय है जो सही दिशा में ले जाया जा सकता है ।


कार्यक्रम का प्रारम्भ ”असतो माॅं सदगमयातमसो माॅं ज्योर्तिगमया” गाकर दीप प्रज्जवलित कर किया । स्वागत गीत में ” वी वेलकम, वी वेलकम आल आफ यू” गाकर सभी का स्वागत किया गया अतिथी का स्वागत सेपलिंग देकर किया गया ।
प्रेयर डांस में छात्राओं ने ट्रेडिशनल ड्रेस में ”ज्योति जला तू मन में मेरे मेरे पावन वचनों से” गाने पर नृत्य की प्रस्तुती दी । बचपन थीम में छात्र छात्राओं ने दर्शाया है कि आजकल बच्चे इन्डोर गेम्स जैसे नेट पर मोबाइल गेम्स खेलते रहते हैं।  जो हमारे स्वास्थ के लिए हानिकारक है। पुराने व आउटडोर खेल को बच्चे भूलते जा रहे हैं। आदिवासी वस्त्रों में बच्चे आदिवासी डांस करते मानो दिल को छू रहे थे जिसे दर्शक दीर्घा में बैठे पालक गणो ने सराहा । क्रिकेट से प्रभावित छात्र नृत्य कर रहे थे जिसमें”मारा रे सिकसर मारा रे फोर” ”चली चली रे पंतग मेरी चली रे” नन्हे मुन्ने छात्रों ने नृत्य की प्रस्तुती दी, स्किट”मन का मंगलू” में बच्चे दर्शा रहे थे कि वो अपनी मन मर्जी के होते है । ”एक लगा 2 लगा” गाने पर बच्चों ने दर्शकों का मन मोह लिया । वही ”जीते हैं जंग जीते है जंग” गाने पर छात्रो ने नृत्य किया जिसे देख कर सभी ने सराहा । अतिथी ए डी एम सतीष कुमार एस.  नेअपने भाषण में सभी को एनवल डे की बधाई दी । वोट आफ थैंक्स में सभी को धन्यवाद दिया गया । अन्त में जेब्स उत्सव में विभिन्न गानो पर छात्र-छात्राओं ने नृत्य की प्रस्तुती दी ”मेरा पिया घर आया” ”मेरा वाला डांस” ”ओढ़नी ओढू तो उडी उडी जाए''''लेटस नाचो'' ''डागरा लागली गढा पानी तेम तेम'' गानो पर सभी दर्शक झूम उठे और ताली बजाकर छात्रों की हौसला अफजाई की ।  


वसुन्धरा शर्मा
(पी.आर.ओ.) 


Popular posts from this blog

Madhya Pradesh Tourism hosts its first Virtual Road Show

गूगल की नई AR  टेक्नोलॉजी से अब आप अपने घर बैठे किसी भी जानवर का 3D व्यू देखिये | 

अखिल भारतीय विद्दार्थी परिषद का मुख्यमंत्री को ज्ञापन।