भोपाल स्मार्ट सिटी को सोलर पैनल और बायोमिथेनाइजेशन प्लांट के लिए बेेस्ट क्लीन एनर्जी अवार्ड 

भारत सरकार के आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय ने इंडिया स्मार्ट सिटी एम्पवॉपरिंग अवार्ड 2019 के लिए किया चयन
भोपाल। भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड के को सोलर पैनल और बायोमिथेनाइजेशन प्लांट को भारत सरकार ने बेस्ट क्लीन एनर्जी अवार्ड से नवाजा है। इन पुरस्कारों के लिए भोपाल स्मार्ट सिटी कंपनी के चयन आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार ने किया है। पुरस्कार 10 जनवरी को दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में कार्यक्रम में प्रदान किया जाएगा। 
भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री दीपक सिंह ने बताया कि इंडिया स्मार्ट सिटी एम्पवॉपरिंग अवार्ड 2019 के लिए भोपाल स्मार्ट सिटी के सोलर पेनल और बायोथेनाजेशन प्लांट को बेस्ट क्लीन एनर्जी प्रोजेक्ट अवार्ड के लिए चुना गया है। भोपाल स्मार्ट सिटी कंपनी द्वारा राजा भोज तालाब पर वीआईपी रोड की रिटेनिंग वॉल पर यह प्लांट लगाया है। प्लांट 500 किलोवॉट की क्षमता का है। इससे प्लांट से हर साल 75  लाख रुपए की बिजली का उत्पादन होगा। इस बिजली का उपयोग नगर निगम के पंप हाउस के लिए किया जाएगा। इसके अलावा भोपाल स्मार्ट सिटी ने 120  किलोवॉट का प्लांट आईएसबीटी और 35 किलोवॉट का प्लांट नगर निगम मुख्यालय पर लगाया है। 
बायोमिथेनाइजेशन प्लांट 
भोपाल स्मार्ट सिटी कंपनी ने बिट्टन मार्केट बायोमिथेनाइजेशन प्लांट स्थापित किया है। इस प्लांट से प्रतिवर्ष  एक लाख यूनिट बिजली का उत्पातदन किया जा रहा है। यह बिजली बिट्टन मार्केट के हाट बाजार को सप्लाई की जा रही है। इस प्लांट की क्षमता 5 टन वेस्ट की है। इसके साथ ही प्लांट से 15 टन प्रतिमाह जैविक खाद का भी उत्पादन किया जा रहा हैं। आसपास के क्षेत्र से ग्रीन वेस्ट का एकत्र कर प्लांट संचालित किया जा रहा है।  इसके साथ ही जबलपुर को ओमती नाला एनएमटी प्रोजेक्ट के लिए बेस्ट स्मार्ट मोबेलिटी प्रोजेक्ट और सागर स्मार्ट सिटी को आईसीसीसी के लिए बेस्ट स्मार्ट सेफ सिटी का अवार्ड मिला है। 


 


Popular posts from this blog

Madhya Pradesh Tourism hosts its first Virtual Road Show

गूगल की नई AR  टेक्नोलॉजी से अब आप अपने घर बैठे किसी भी जानवर का 3D व्यू देखिये | 

अखिल भारतीय विद्दार्थी परिषद का मुख्यमंत्री को ज्ञापन।