वन प्रबंध संस्थान में महिला वैज्ञानिकों हेतु एनवायरनमेंटल लीडरशिप एण्ड लाइफ स्किल्स पर कार्यक्रम 

भारतीय वन प्रबंध संस्थान में 25 से 29 नवम्बर, 2019 के दौरान डा. पारूल ऋषि एवं डा. बी.के. उपाध्याय द्वारा भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा प्रायोजित महिला वैज्ञानिकों तथा प्रौद्योगिकीविदों हेतु '' एनवायरनमेंटल लीडरशिप एण्ड लाइफ स्किल्स '' कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में पर्यावरणीय संरक्षण, प्रतिरक्षण एवं सतत्पोषणीयता से संबंधित जीवन कौशलों तथा उभरते पर्यावरणीय नेतृत्व पर चर्चा होगी। इस कार्यक्रम में पूरे भारत के विभिन्न राज्यों से विविध पृष्ठभूमियों जैसे, कृषि वैज्ञानिक, पर्यावरणीय वैज्ञानिक, वास्तुविद्, जैवप्रौद्याोगिकीविद्, संचार एवं प्रबंधन विशेषज्ञ, स्वास्थ्य व्यवसायी, रक्षा अनुसंधान संगठनों से प्रतिभागी भाग ले रहे हैं। 
इस कार्यक्रम का उद्घाटन वन विहार की निदेशक श्रीमती कोमलिका मोहन्ता, भा.व.से. ने किया तथा भारतीय वन प्रबंध संस्थान के निदेशक डा. पंकज श्रीवास्तव ने इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इस अवसर पर बोलते हुए भारतीय वन प्रबंध संस्थान के निदेशक डा. पंकज श्रीवास्तव ने कहा कि यह कार्यक्रम भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा प्रायोजित अपनी तरह का पहला कार्यक्रम है। इसकी ख्याति एवं वैज्ञानिकों की मांग को देखते हुए  इसे इसी वर्ष में दूसरी बार भारतीय वन प्रबंध संस्थान द्वारा आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने इस अवसर पर लोगों के जीवन में एक लीडर के रूप में पर्यावरण एवं उसके प्रबंधन के महत्व पर प्रकाश डाला। आगे मुख्य अतिथि ने अपने उद्बोधन में विचार व्यक्त करते हुए कहा कि हमारी दादियों ने अपने देशी तरीकों से हम सभी को प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन की शिक्षा दी है तथा महिलाओं की यह प्रमुख जिम्मेदारी है कि वे एक लीडर के रूप में प्राकृतिक एवं सामाजिक वातावरणों में विविध भूमिकाओं को निभाने के लिए एक लीडर के रूप में इसे आगे ले जाएं। 
कार्यक्रम की संचालिका डा. पारूल ऋषि ने अवगत कराया कि आने वाले 5 वर्षों में प्रतिभागियों को कम्युनिकेशन लीडरशिप स्किल्स, इमोशनल इंटेलीजेन्स, मैनेजिंग एंगर, कान्फ्लिक्ट एण्ड स्टैेªस मोटिवेशनल इश्यूज तथा एथिकल लीडरशिप पर विभिन्न प्रकार की प्रयोगात्मक एक्सरसाइज करायी जाएंगीं, जो उन्हें पर्यावरण बचाने एवं आने वाली पीढियों के लिए उसे स्वस्थ बनाने हेतु एक लीडर के रूप में दूसरों को प्रभावित करने एवं उसके महत्व को समझाने में मदद करेगी। 
इस कार्यक्रम का विशेष घटक है, मेन्डोरा पारिस्थितिकीय पर्यटन स्थल, केरवा का प्रक्षेत्रीय भ्रमण, जहां प्रतिभागी मेडिटेशन, रिलेक्सेशन एवं आर्ट थेरेपी, एक नयी थेरेपी जिसमें रंगों के रूप में भावनाओं को उभारा जाता है, को प्रतिभागी सीखेंगे। यह कार्यक्रम पर्यावरण को बचाने में सहायता पहंुचाने के लिएपर्यावरणीय लीडर के रूप में अपने-अपने संगठनों में पर्यावरणीय पहल करने हेतु प्रतिभागियों प्रेरित भी करेगा।