रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय में सिविल विभाग द्वारा तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन 

टोटल स्टेशन की कार्यशाला में विद्यार्थियों ने सीखा सटीक सर्वेक्षण



भोपाल। रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय के सिविल विभाग द्वारा तीन दिवसीय ''एडवांस सर्वेइंग यूजिंग टोटल स्टेशन'' विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला में सिविल इंजीनियरिंग के छात्रों ने भाग लिया। बतौर विषय विषेषज्ञ श्री सौरभ जैन, फाउंडर आफ जे.पी. सर्वे एकेडमी उपस्थित थे। टोटल स्टेशन वर्तमान का सबसे आधुनिक उपकरण है जिसका उपयोग न सिर्फ सर्वेक्षण बल्कि भवन निर्माण में भी किया जाता है। श्री सौरभ जैन ने छात्रों को जानकारी देते हुए बताया कि यह एक इलेक्ट्रानिक ट्रांजिट थियोडोलाइट है जिससे हम क्षैतिज कोण, ऊध्र्वाधर कोण और ढाल की दूरी को माप सकते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि इसमें जानकारी एकत्र करने के लिये एक ऑन-बोर्ड कंप्यूटर दिया जाता है जिससे डेटा एकत्र कर सकें और उन्नत समन्वय आधारित गणना कर सके। इसके उपरांत विद्यार्थियों को व्यावहारिक ज्ञान हेतु रोड का सर्वेक्षण और उसके कोणों को मापना सिखाया। व्याहारिक ज्ञान में विद्यार्थियों को टोटल स्टेशन को सटीकता से लगाना और उससे आब्जेक्ट की दूरी, लंबाई और चैड़ाई को मापने की विस्तृत जानकारी दी। वर्कशाप के आखिरी चरण में एकत्रित डेटा का उपयोग करना सिखाया गया कि कैसे उस डेटा को आटो कैड साॅफ्टवेयर की मदद से शीट पर लिया जाये जिससे कि भवन और रोड का निर्माण हो सके या फिर उनका सुधार या नवीनीकरण किया जा सके। 
कार्यशाला के प्रारंभ में विश्वविद्यालय के सिविल विभाग के विभागाध्यक्ष श्री कपिल सोनी ने छात्रों को संबोधित करते हुए बताया कि टोटल स्टेशन को सीखने के उपरांत आप स्वरोजगार भी प्रारंभ कर सकते हैं। कार्यक्रम के अंत में विश्वविद्यालय के डीन एकेडमिक डाॅ. संजीव गुप्ता ने बतौर विषय विशेषज्ञ श्री सौरभ जैन को मेमेंटो और पुष्प गुच्छ भेंट किया। कार्यशाला में भाग लिये विद्यार्थियों को सर्टिफिकेट भी दिया गया। इस मौके पर सिविल विभाग के सभी अध्यापकगण और बड़ी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित थे। 


जनसंपर्क विभाग
रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय