ईद मीलादुन्नबी का परम्परागत जुलूस मुलतवी

आल इण्डिया मुस्लिम त्यौहार कमेटी का ऐलान
 भोपाल। पैगम्बर-ए-इस्लाम हजरत मोहम्मद मुस्तुफा साहब (स.अ.व.) के पवित्र जन्म दिवस ईद मीलादउन्नबी के पावन अवसर पर प्रदेश के सभी 52 जिलों में प्रतिवर्ष निकाले जाने वाले आल इण्डिया मुस्लिम त्यौहार कमेटी के परम्परागत जुलूस (स्थागित) मुल्तवी कर दिये गये है मगर इस मौके पर मस्जिदों, खानकाहों, दरगाहों, इमामबाड़ों, मदरसों, मकतबों, आस्तानों, इस्लामी मरकजों में परम्परागत कुरान ख्वानी, दरूद ख्वानी, फातेहा ख्वानी, परचम कुशाई और ज़िकर-ए-सीरत-उन-नबी (स.अ.व.) की मजलिसें, नअतिया मेहफिलों सहित आलमी अमनों-आमान (विश्व शांति) की इज्तिमाई दुआएं किये जाने के सभी प्रोग्राम कल यथावत होंगे।
आल इण्डिया मुस्लिम त्यौहार कमेटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डाॅ. औसाफ शाहमीरी खुर्रम ने यह ऐलान (घोषणा) करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा फैसले के बाद प्रदेश में हुए हालात के मद्देनजर रखते हुए यह कदम उठाया गया है।
 आल इण्डिया मुस्लिम त्यौहार कमेटी के जुलूस संयोजक एवं प्रवक्ता अब्दुल नफीस ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से मुसलमानों में नाराजगी है और यह फैसला ऐसे मौके पर आया है कि जबकि देश के करोड़ो मुसलमान अपने प्यारे नबी-पाक स.अ.व. की पवित्र सालगिराह का परम्परागत जश्न मनाने की तैयारिया कर रहे हैं। इसलिए हम इस फैसले से असहमत हैं, जिसके कारण प्रदेश में असहज वातावरण बन गया है। इसलिये भोपाल में निकलने वाले रिवायती जुलूस को भी स्थगित करने ऐलान करते है।