शिवराज सरकार की गलत नीतियों से 19 हजार 455 युवा, नहीं बन पाए शिक्षक


भूपेन्द्र गुप्ता ने नेता प्रतिपक्ष को लिखा पत्र



भोपाल, 07 सितम्बर, 2019
प्रदेश की पिछली भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण मध्यप्रदेश में शिक्षकों के 19 हजार 455 पद खाली है। इन खाली पदों के कारण नहीं पीढ़ी को शिक्षा से वंचित रहना पड़ा। प्रदेश कांग्रेस ने सवाल उठाया है कि बच्चों की पढ़ाई में जो कमी रह गई है उसकी जिम्मेदारी कौन उठाएगा?
प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव को पत्र लिखकर भारत सरकार के मानव संसाधन मंत्रालय की जानकारी से अवगत कराते हुए पूछा है कि पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान इन खाली पदों को क्यों नहीं भर पाये जबकि कई बी.एड., पास होनहार युवा शिक्षक की नौकरी पाने का अवसर देखते देखते उम्र दराज हो गए हैं।
उन्होंने पत्र में यह भी कहा कि इन युवाओं का कोई दोष नहीं है। इनका अपराधी कौन है? यह प्रदेश जानना चाहता है।
भूपेन्द्र गुप्ता ने श्री भार्गव से आग्रह किया कि वे पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान से चर्चा कर उन हजारों युवाओं को जवाब दें जो पढ़ लिख लेते तो अब तक काबिल शिक्षक बन गए होते। साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा तथ्यों पर बात नहीं करती, झूठे आंकड़े बताती है लेकिन मुद्दों पर जवाबदेही से नहीं बच सकती। उन्होंने श्री भार्गव से जल्दी उत्तर देने की अपेक्षा की है।


Popular posts from this blog

Madhya Pradesh Tourism hosts its first Virtual Road Show

UK में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों में एक दिन में 27% की बढ़त।

गूगल की नई AR  टेक्नोलॉजी से अब आप अपने घर बैठे किसी भी जानवर का 3D व्यू देखिये |