राधारमण में फाइबर आॅप्टिक्स पर सेमीनार आयोजित


भोपाल। फाइबर ऑप्टिक तकनीक कई हवाई और अंतरिक्ष प्लेटफार्मों में उपयोग के लिए महत्वपूर्ण प्रगति कर रही है। इनमें से कई अनुप्रयोगों में सिस्टम में एकीकरण शामिल है जो उच्च बैंडविड्थ सिग्नल ट्रांसमिशन के लिए ऑप्टिकल फाइबर का व्यापक उपयोग करते हैं। कई वर्तमान वायु और अंतरिक्ष प्लेटफॉर्म जो फाइबर ऑप्टिक सिस्टम का उपयोग करते हैं, उनमें वाणिज्यिक और सैन्य विमान, मानव रहित विमान, अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन और कई नासा और अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष अन्वेषण प्रणालियां शामिल हैं। यह जानकारी राधारमण समूह में इंजीनियरिंग सेकंड ईयर के विद्यार्थियों के लिए आयोजित एक सेमीनार में दो दशकों से अधिक का अनुभव रखने वाले एसटीएल अकादमी के डीन प्रोफेसर इन्द्रनील घोसल ने दी। उन्होंने बताया कि फाइबर आॅप्टिक्स के क्षेत्र में करियर की बड़ी संभावनाएं मौजूद हैं। यदि विद्यार्थी इस विषय के गहन अध्ययन की ओर जाएं तो वे रिसर्च से लेकर डेवलपमेंट तक विभिन्न क्षेत्रों में न सिर्फ अच्छे पैकेज वाली नौकरियां पा सकते हैं बल्कि स्वरोजगार के क्षेत्र में भी बेहतरीन करियर बना सकते हैं।
राधारमण समूह के चेयरमेन आर आर सक्सेना ने कहा कि बीते दौर की तुलना में आज के युवाओं के समक्ष रोजगार के अनेक विकल्प मौजूद हैं। अतएव उन्हें अपनी पसंद व रूचि के अनुसार ऐसे विषयों का चयन करना चाहिए जिसमें वे अपनी प्रतिभा का श्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकें।