‘‘पढ़ने की प्रवृति कल्पना शक्ति को विकसित करती है’’

सेंट पाॅल्स को-एड स्कूल, भोपाल में  9 से 15 सितम्बर तक रीडिंग वीक का आगाज किया गया है इसके अंतर्गत सेंट पाॅल्स पुस्तकालय के लाइब्रेरियनस के द्वारा समाचार पत्रों के प्रेरनात्मक लेखों की कटिंग कर कोलाज का रूप दिया गया। पढ़ने की संस्कृति को विकसित करना इस सप्ताह का मुख्य उद्देश्य है। पढ़ने की आदत न केवल बच्चों का ज्ञानवर्धन करती है बल्कि उनके शब्दों का भंडार भी बढ़ाती है। इंटरनेट के युग में किताबों के प्रति घटती दिलचस्पी के मद्देनज+र सी.बी.एस.ई. के द्वारा यह पहल की गई है।
इस सप्ताह में छात्रों के द्वारा अपने मनपसंद विषयों की किताबें पढ़ी भी गई और उन्हें सरांशरूप में विद्यार्थी ने कक्षा में सुनाया भी। शाला प्राचार्य फादर जाॅनसन थरनी के द्वारा कहा गया कि इससे छात्रों में पठन कौशल की कला विकसित होगी तथा उनकी कल्पना शक्ति का विकास होगा। उन्होंने लाइब्रेरियन श्री आईप वर्गीस, श्रीमती अनुराधा चक्रवर्ती, श्रीमती आशा प्रबीन बैन्न को धन्यवाद दिया कि उन्होंने सुन्दर कोलाज बनाया। छात्रा जोशुआ जोजी, आयूषी, शिखा व उर्षशी को भी सहयोग के लिए प्रोत्साहित किया।



श्रीमती मीना जैन     फादर जाॅनसन थरनी सी. एम. आई.
         प्राचार्य