स्मार्ट सिटीः आसमान में उड़ते ड्रोन का पता लगाओं और ईनाम पाओं

स्टार्टअप्स और यंग डेवलपर्स के लिए भोपाल स्मार्ट सिटी ने शुरू किया चैलेंज



भोपाल। भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेषन लिमिटेड ने आसमान में उड़ने वाले रिमोट आधारित नेनो व माईक्रो ड्रोन का पता लगाने चैलेंज शुरू किया है। इस चैलेंज के तहत स्टार्टअप व युवा डेवलपर्स को एप बेस्ड सॉल्यूशन तैयार करना होगा। प्रथम पुरूस्कार 50 हजार रूपये का होगा।


भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने रिमोट से संचालित होने वाले नेनो व माईक्रो ड्रोन के लिए चैलेंज शुरू किया है। इस चैलेंज के तहत प्रतिभागियों को एक एप डेवलप करना होगा। जिसके माध्यम से यह पता लगाया जा सकें कि आसमान में ड्रोन कहां और किस उचाई पर उड़ रहा है। इसके साथ ही उड़ान का समय एवं लोकेशन मिल सकेगी। इससे नागरिकों की सुरक्षा के साथ जिला प्रशासन व लॉ एनफॉर्समेंट एजेंसियों को मदद मिलेगी। वर्तमान में ड्रोन का उपयोग फोटोग्राफी, एग्रीकल्चर, इंफ्रास्ट्रक्चर, एसेट मैनेजमेंट, एष्योरेंस आदि के लिए किया जाता है।


कहां है ड्रोन अभी पता लगाना मुश्किल


वर्तमान में स्पेसेफिक जोन में ड्रोन्स को 50 से 60 मीटर की उचांई तक उड़ाया जा सकता है। लेकिन इनकी लोकेशनों को खोजना मुश्किल होता है। वही हवाई जहाजों की उड़ानों को नियंत्रित करने व प्लेनों की लोकेशनों का पता लगाने एयर ट्रैफिक कंट्रोल(एटीसी) की व्यवस्था होती है। लेकिन ड्रोन के मामले में ऐसा कुछ नहीं है। जिससे इनकी उड़ान की स्थिति का पता लगाया जा सकें।


ऐसे होगा बेस्ट एप का चयन


भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड के मीडिया मैनेजर, श्री नितिन दवे ने बताया कि वेबसाईट पर आवेदन करने के साथ ही कॉन्सेप्ट नोट प्रोसेस मेप और एप लिंक भी देना होगी। इसके पश्चात् प्रथम चरण का रिव्यूव और प्रेजेंटेशन होगा। इस दौरान प्रतिभागियों को प्रोडक्ट् का डेमो भी देना होगा। एक्सपर्ट कमेटी सर्वश्रेष्ठ एप का चयन करेगी। सर्वश्रेष्ठ एप को 50 हजार रुपये का पुरस्कार मिलेगा। श्रेष्ठ तीन डेवलपर्स को 20 हजार रुपये का नगद पुरस्कार दिया जाएगा। इसके लिए smartbhopal.city o bnest@smartbhopal.city से संपर्क किया जा सकता है।