एम्स भोपाल में सी.बी.आर.एन.ई आपदा कार्यक्रम के लिए चिकित्सा प्रबंधन के अंतर्गत स्नातकोत्तर पत्रोपाधी पाठ्यक्रम शुरू

   


दिनांक 10.01.2020 को माननीय अध्यक्ष महोदय, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, भोपाल द्वारा प्रो. सरमन सिंह, निदेशक, एम्स भोपाल की उपस्थिति में सी.बी.आर.एन.ई. आपदा कार्यक्रम के लिए चिकित्सा प्रबंधन के अंतर्गत स्नातकोत्तर पत्रोपाधी पाठ्यक्रम का उद्घाटन किया गया।  एम्स, भोपाल के साथ-साथ यह कार्यक्रम तीन अन्य विद्यार्थी सहायता केन्द्रों (Learner Support Centers) में इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (आई.जी.एन.ओ.यू.) एवं नाभिकीय औषधि तथा सम्बद्ध विज्ञान संस्थान (आई.एन.एम.ए.एस.) रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डी.आर.डी.ओ.) के सहयोग से शुरू किया गया है। यह स्नातकोत्तर पत्रोपाधी पाठ्यक्रम मुक्त व दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से चलने वाला सी.बी.आर.एन.ई. आपदा के लिए चिकित्सा प्रबंधन के अंतर्गत एम.बी.बी.एस. चिकित्सकों के लिए एक छः माही पाठ्यक्रम है, इस छः माही पाठ्यक्रम में 15 दिन की संपर्क अवधि (Contact period) रहेगी, जिसमें से 10 दिन आई.एन.एम.ए.एस. एवं 5 दिन विद्यार्थी सहायता केन्द्र (एम्स, भोपाल) के लिए होंगे।
    सी.बी.आर.एन.ई. आपदा का अर्थ रासायनिक (Chemical) जैविक (Biological) रेडियोलॉजिकल (Radiological) नाभिकीय (Nuclear) एवं विस्फोटकीय (Explosives) आपदा से है। देश में ऐसा पहली बार हो रहा है कि सी.बी.आर.एन.ई. आपदा के अंतर्गत इस तरह का कोई पाठ्यक्रम शुरू हुआ हो।
    पाठ्यक्रम से संबंधित जानकारी एम्स, भोपाल की वेबसाइट (www.aiimsbhopal.edu.in) पर ‘IGNOU Regional Center) नामक स्तम्भ के अंतर्गत प्राप्त की जा सकती है। पाठ्यक्रम के लिए पंजीकरण शुरू कर दिये गए है। अधिक जानकारी व ऑनलाइन पंजीकरण हेतु कृपया निम्नलिखित वेबसाइट पर प्राप्त करें:


www.ignou.ac.in