बी-नेस्टः देश के अलग-अलग शहरों से इंक्यूबेट हुए 7 स्टार्टअप 

हैकाथॉन की विजयी टीमों ने इंक्यूबेशन सेंटर में दर्ज कराई उपस्थिति



भोपाल। भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड के इंक्यूबेशन सेंटर बी-नेस्ट में देश के अलग-अलग शहरों से आए 7 नये स्टार्टअप्स् ने उपस्थिति दर्ज कराई है। बी-नेस्ट में पहली बार महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के स्टार्टअप्स् इंक्यूबेट हुए है। इन सभी का इंडक्शन प्रोग्राम बी-नेस्ट में हुआ। 


भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड के मीडिया मैनेजर, श्री नितिन दवे ने बताया कि 30 नवम्बर व 1 दिसम्बर 2019 को हैकाथॉन 2.0 का आयोजन किया गया था। इनमें कानपुर उत्तर प्रदेश से श्री अभिजात मिश्रा को इंक्यूबेट किया गया है। उनका स्टार्टअप वेस्ट मैनेजमेंट से संबंधित है। शेगांव महाराष्ट्र से श्री शांतनु गवांडे को इंक्यूबेट किया गया है। उनका स्टार्टअप सॉफ्टवेयर से संबंधित है। जबलपुर मध्यप्रदेश से श्री अनुज जैन ने बी-नेस्ट में बतौर स्टार्टअप उपस्थिति दर्ज कराई है। वे सड़क सुरक्षा पर कार्य कर रहें है। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व बी-नेस्ट इंक्यूबेशन सेंटर में केवल स्थानीय लोग ही इंक्यूबेट थे। जिनकी संख्या 36 है। नये स्टार्टअप्स् को मिलाकर बी-नेस्ट में अपने आईडिया पर काम करने वाले इंक्यूबेटर्स की संख्या 43 हो गई है। जल्द ही कुछ नये स्टार्टअप्स को बी-नेस्ट में इंक्यूबेट किया जाएगा। बी-नेस्ट की क्षमता 50 स्टार्टअप्स् की है।
भोपाल के 4 आईडियाज को मिली बी-नेस्ट में एंट्री
हैकाथॉन 2.0 में चयनित 4 स्थानीय स्टार्टअप्स् के आईडिया को भी बी-नेस्ट में जगह दी गई है। इनमें श्री अंशुल शाईवे को स्थान मिला है। वे ड्रोन टेक्नोलॉजी पर काम कर है। श्री सुदेश मौरे को स्मार्ट एनर्जी मैनेजमेंट संबंधित आईडिया के लिए बी-नेस्ट में इंक्यूबेट किया गया है। श्री ज़ीषान खान को स्मार्ट रेस्ट रूम मॉनीटरिंग सिस्टम आईडिया पर काम करने के लिए इंक्यूबेशन सेंटर मेें जगह दी गई है। श्री आदित्य पाल को करियर एप के लिए इंक्यूबेशन सेंटर में एंट्री मिली है।