बाक्सिंग अकादमी के खिलाड़ी  हिमांशु, बैडमिंटन खिलाड़ी अमित और वेटलिफ्टिंग खिलाड़ी विश्वजीत ने मध्य प्रदेश को दिलाए तीन स्वर्ण पदक

खेलो इंडिया यूथ गेम्स गुवाहाटी-2020
खेलो इंडिया यूथ गेम्स में मध्य प्रदेश के खिलाड़ियों ने जीते अब तक 44 पदक



भोपालः 21 जनवरी, 2020। खेलो इंडिया यूथ गेम्स के अंतर्गत मप्र के खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए मध्य प्रदेश को तीन स्वर्ण और एक कांस्य सहित चार पदक दिलाए। बॉक्सिंग, वेटलिफ्टिंग और बैडमिंटन में मध्य प्रदेश को एक.एक स्वर्ण तथा वेटलिफ्टिंग में एक कांस्य पदक मिला। इन्हें मिलाकर मध्यप्रदेश अब तक 15 स्वर्ण, 11 रजत और 18 कांस्य सहित कुल 44 पदक जीतकर पदक तालिका में दसवें स्थान पर है।
खेल और युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी और संचालक खेल और युवा कल्याण डॉ. एसएल थाउसेन ने मध्य प्रदेश के खिलाड़ियों द्वारा अर्जित इस उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए पदक विजेता खिलाड़ियों को बधाई दी है।
खेलो इंडिया यूथ गेम्स के अन्तर्गत बाक्सिंग के अंडर-17 बालक वर्ग में आज खेले गए फाइनल मुकाबले में मध्य प्रदेश राज्य बाक्सिंग अकादमी के खिलाड़ी हिमांशु श्रीवास ने 57 किलोग्राम भारवर्ग में शानदार प्रदर्शन करते हुए आसाम  के खिलाड़ी को 3.2 से परास्त किया और स्वर्ण पदक मध्य प्रदेश की झोली में डाला।
इसी तरह बैडमिंटन में अंडर-21 के फाइनल मुकाबले में मध्य प्रदेश धार के खिलाड़ी अमित राठौर ने तमिलनाडु के खिलाड़ी सतीश को 2-0 (21-18, 21.19) से शिकस्त देकर मध्य प्रदेश को स्वर्ण पदक दिलाया। खेलो इंडिया यूथ गेम्स के अन्तर्गत वेटलिफ्टिंग बालक वर्ग के अंडर. 21 में खेले गए फाइनल मुकाबले में मध्य प्रदेश के खिलाड़ी कुंवर विश्वजीत सिंह ने 96 किलोग्राम भारवर्ग में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 284 किलो ग्राम वजन उठाकर मध्य प्रदेश को स्वर्ण पदक दिलाया। राजस्थान के खिलाड़ी हरचरण सिंह ने 277 किग्रा और तमिलनाडु के खिलाड़ी आर राजकुमार ने 266 किग्रा वजन उठाकर क्रमशः दूसरा और तीसरा स्थान प्राप्त किया।
वेटलिफ्टिंग में अंडर-21 बालक वर्ग की 120 किग्रा वेट केटेगरी में मध्य प्रदेश के खिलाड़ी आकाश कौशल ने  मध्य प्रदेश को कांस्य पदक दिलाया।


Popular posts from this blog

Madhya Pradesh Tourism hosts its first Virtual Road Show

गूगल की नई AR  टेक्नोलॉजी से अब आप अपने घर बैठे किसी भी जानवर का 3D व्यू देखिये | 

अखिल भारतीय विद्दार्थी परिषद का मुख्यमंत्री को ज्ञापन।