स्वयं द्वारा पोषित परिवहन माफिया के खिलाफ कब चलेंगा अभियान -नवीन कुमार अग्रवाल 

विधानसभा में गोपाल भार्गव, प्रदीप पटेल, माधव मारु ने उठाया अवैध वसूली का मामला 


प्रदेश के मुखिया कमलनाथ द्वारा प्रदेश में रेत ,खनन ,गुमटी ,शराब ,शिक्षा ,अवैध निर्माण माफिया के साथ ही  परिवहन माफिया के समूल नाश के लिए योजना बनाई है और उसकी ही परिणीति के परिणाम स्वरुप वर्तमान में प्रदेश के प्रत्येक जिले में चुन चुन कर विरोधियो के अवैध निर्माण को तोडा जा रहा है जबकि होना यह चहिये की पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की तर्ज पर एक छोर से दूसरे छोर तक विद्यमान अवैध निर्माण को पक्ष विपक्ष का ध्यान दिए बिना नेस्तानाबूद करना चाहिए ताकि निष्पक्षता पूर्वक कार्यवाही से जनता में सही सन्देश का प्रसार हो और जनता इस योजना का स्वागत करे। 
नीमच जिले की हम बात करे तो वर्तमान में मात्र परिवहन विभाग द्वारा चालानी कारवाही कर इस अभियान की शुरुवात की गई है जिसमे बिना परमिट एवं टैक्स चुकाए वाहनों को पकड़ा है जो की स्वागत योग्य कदम है लेकिन प्रश्न यह उठता है की प्रदेश में 24 घंटे 365 दिन चलने वाला परिवहन माफिया की दो जाँच  चौकिया बघाना एवं नयागाव जंहा पर प्रतिदिन करोड़ो रूपये अवैध वसूली परिवहन विभाग एवं राजनैतिक संरक्षण के चलते निर्बाध रूप से 24 घंटे 365 दिन संचालित हो रही है उस परिवहन माफिया के खिलाफ कार्यवाही करने में जिला प्रशासन क्यो हिचकचा रहा है ?
इस परिवहन विभाग के माफिया के खिलाफ  निरंतर संघर्ष कर रहे  साथियो की माँग पर विधानसभा के सत्र में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, मऊगंज विधायक प्रदीप पटेल एवं मनासा विधायक अनिरुद्ध मारु ने अलग अलग प्रश्न लगाकर इस परिवहन माफिया के खिलाफ सदन का ध्यान आकृष्ट करवाया। यंहा तक की नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने विधायक दल के मीटिंग में परिवहन विभाग के माफिया द्वारा प्रतिमाह प्रदेश में 1200 करोड़ रुपये की अवैध वसूली का मामला उठाकर प्रदेश की राजनीती को गरमा दिया। इस सम्बन्ध में उक्त जनप्रतिनिधियों ने प्रदेश की परिवहन जांच चौकियों पर प्रतिदिन अवैध रूप से 40 करोड़ रूपये वाहन चालकों से परिवहन विभाग द्वारा पोषित परिवहन माफिया के खिलाफ लगाकर परिवहन माफिया के खिलाफ आवाज बुलंद कर प्रदेश की जनता का ध्यान परिवहन माफिया की ओर आकृष्ट किया। 
आप के नवीन कुमार अग्रवाल ने प्रेस नोट के माध्यम से जिले के प्रशासनिक अधिकारियो एवं सत्ता पक्ष के राजनेताओ से प्रश्न किया है की जब कमलनाथजी प्रदेश से हर प्रकार के माफिया राज को ख़त्म करना चाहते है तो परिवहन विभाग द्वारा स्वय पोषित परिवहनविभाग के मफिया के खिलाफ कारवाही क्यो नहीं की जा रही जो की बघाना एवं नयागाव परिवहन जाँच चौकियों पर निर्बाध रूप से परिवहन मफिया द्वारा संचालित हो रही है ?