भौतिक एवं मानसिक दोनों कुशलता प्राप्त करना चाहिए- ब्रह्मचारी गिरीश


भोपाल (महामीडिया) आज महर्षि उत्सव भवन, छान में महर्षि कौशल विकास एवं प्रशिक्षण संस्थान का प्रशिक्षण प्रमाण-पत्र एवं पारिश्रमिक वितरण समारोह संपन्न हुआ। कार्यक्रम का आयोजन ब्रह्मनंद सरस्वती आश्रम, भोजपुर मंदिर मार्ग, छान में आयोजित किया गया था। प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण प्रमाण पत्र एवं पारिश्रमिक वितरित करते हुए कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महर्षि विद्या मंदिर विद्यालय समूह के अध्यक्ष ब्रह्मचारी गिरीश ने कहा कि ''आपको अपने जीवन में उच्च कौशल का विकास करना होगा ताकि आपकी उपस्थिति समाज में स्वीकार्य हो। बच्चों और किशारों को कौशल का विकास निरंतर करना है। अपना जीवन बहुत कीमती है। जितना जीवन है उसमें सर्वश्रेष्ठ बनें। विचार, वाणी, व्यवहार कर्म- चार ऐसे सन्मार्ग हैं जिसको जीवन में उतारकर समाज में स्वीकार्य बनाया जा सकता है और आदर्श व्यक्तित्व के धनी बन सकते हैं। कर्म की कुशलता योग से होगी। नियम एवं संयम से चलकर कर्म की कुशलता अर्थात कौशल को प्राप्त करें। समाज में यदि सभ्य लोगों के बीच में जाकर खड़े हों तो स्पष्ट परिलक्षित हों। पूर्णगामी जीवन को अपनायंे, अजीविका के लिए कर्म करना एक पृथक विषय है लेकिन जीवन को कुशल बनाने के लिए भावातीत ध्यान बहुत आवश्यक है। जीवन में कुशलता के लिए जड़ चेतना में खाद-पानी दें ताकि वह पुष्पित एवं पल्लवित हो सके। इसीलिए हम गुरु-शिष्य परंपरा के अनुसार गुरु-पूजन करते हैं जिससे जड़ एवं चेतना को बल मिलता है।''
इस अवसर पर कार्यक्रम पर प्रकाश डालते हुए महर्षि कौशल विकास प्रशिक्षण संस्थान के राष्ट्रीय संयोजक नरेन्द्र वीर सिंह त्यागी ने कहा- ''परम पूज्य संत महर्षि महेश योगी जी का विचार था कि गांवों को आत्म निर्भर बनाकर गांवों का विकास और ग्रामीणों को रोजगार उपलब्ध करवाये जायें। इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए महर्षि कौशल विकास द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है जिसमें निरंतर वृद्धि हो रही है।''
महर्षि संस्थान की पंरपरा अनुसार सर्वप्रथम गुरु पूजन प्रारंभ हुआ इसके पश्चात् गणेश वंदना की शानदार प्रस्तुति दी गई। इसके पश्चात् नन्हें -मुन्हें बच्चों ने मनमोहन सरस्वती वंदना की प्रस्तुति-'हे माँ सरस्वती तुम्हारी वंदना करें' के बोल पर दी गई। इसके पश्चात् स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम में महर्षि विद्या मंदिर विद्यालय समूह के अध्यक्ष ब्रह्मचारी गिरीश ने 65 प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण प्रमाण पत्र एवं तेरह प्रशिक्षणार्थियों को पारिश्रमिक का वितरण किया। इस अवसर पर महर्षि विद्या मंदिर विद्यालय समूह के निदेशक संचार एवं जनसंपर्क व्ही. आर. खरे, निदेशक एकेडमिक एम. एस. सोलंकी एवं महर्षि विश्व शांति आंदोलन की संचार सचिव श्रीमती आर्या नंदकुमार मंच पर उपस्थित थीं।


Popular posts from this blog

Madhya Pradesh Tourism hosts its first Virtual Road Show

UK में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों में एक दिन में 27% की बढ़त।

गूगल की नई AR  टेक्नोलॉजी से अब आप अपने घर बैठे किसी भी जानवर का 3D व्यू देखिये |