उड़ीसा और छत्तीसगढ़ के विद्यार्थियों ने मेपकॉस्ट की छह प्रयोगशालाओं और हर्बल गार्डन का किया भ्रमण

ह्यूमन हर्बल हेल्थकेयर गार्डन देख विद्यार्थी हुए मुग्ध


भोपाल, 18 नवम्बर. उड़ीसा, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश के जवाहर नवोदय विद्यालय के 150 विद्यार्थियों ने 18 नवम्बर, 2019 को नेहरू नगर स्थित मप्र विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद मेपकॉस्ट के विज्ञान भवन में छह प्रयोगशालाओं का भ्रमण किया. विद्यार्थियों ने परिषद परिसर में स्थित हर्बल हेल्थ केयर गार्डन में लगाए विभिन्न औषधीय एवं सुगंधित पौधों को भी पूरी दिलचस्पी के साथ देखा. मानव के विभिन्न भीतरी अंगों की आकृति में बनाये गये इस गार्डन में औषधीय एवं सुगंधित पौधों की 100 प्रजातियां हैं. प्रयोगशालाओं के भ्रमण के पहले परिषद के महानिदेशक· डॉ. आरके आर्य ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि वि ज्ञान के किसी भी प्रोफेशन में जाएं लेकिन पहली आवश्यकता अच्छा नागरिक· बनने की है. उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों कोअच्छा आइडिया या विचार कहीं से भी मिले, ग्रहण करना चाहिए. मानव संसाधन विकास के प्रभारी और वरिष्ठ प्रधान वैज्ञानिक डॉ. प्रवीण दिर्घरा ने प्रदेश के विकास में परिषद की वैज्ञानिक भूमिका से अवगत कराया. जैव प्रौद्योगिकी उत्कृष्टता केंद्र में बच्चों को डीएनए मालीक्यूल सीक्वेंसर मशीन की वैज्ञानिक जानकारी दी गई. गुणवत्ता आश्वासन प्रयोगशाला में पेय जल की अशुद्धियों को दूर करने के बारे में बताया गया. पेटेंट सूचना केंद्र द्वारा पेटेंट, ट्रेड मार्क·, कॉपीराइट आदि की जानकारी दी गई. सुदूर संवेदन उपयोग केंद्र
की जीआईएस एंड इमेज प्रोसेसिंग, भूमि उपयोग एवं शहरी सर्वेक्षण और मध्यप्रदेश संसाधन एटलस कार्यक्रम प्रभाग द्वारा सैटेलाइट से प्राप्त चित्रों के वैज्ञानिक विश्लेषण, अध्ययन और उनकी उपयोगिता से अवगत कराया गया. इस अवसर पर कार्यकारी संचालक· डॉ. आरके सिंह और वैज्ञानिकगण उपस्थित थे.


प्रफु मेघावाले
संयुक्त संचालक, जनसंपर्क