‘‘बच्चे मन के सच्चे, सारे जग के आँख के तारे’’


ये उद्गार दिनांक 14 नवंबर 2019 को प्राचार्य फादर जाॅनसन थरनी ने सेंट पाॅल स्कूल आनंद नगर में बाल दिवस के अवसर पर व्यक्त किए और कहा कि बच्चे राष्ट्र का भविष्य हैं। उन्हें जीवन के हर क्षेत्र में अपनी कुशलता एवं योग्यता का प्रदर्शन करना चाहिए। उन्होंने ईश्वर के प्रति कृतज्ञता प्रकट करते हुए कहा कि भगवान ने हमारे जीवन में बाल दिवस को सुंदर तरीके से मनाने का सौभग्य दिया। उन्होंने कहा सफलता प्राप्त करने के लिए सबको संगठित होकर काम करना चाहिए। सुंदर एंव सुखद भविष्य के लिए सबको मिलजुल कर कार्य करना चाहिए। आपने बच्चों को बाल दिवस की शुभकामनायें देते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की। कार्यक्रम के प्रारंभ में प्राचार्य फादर जाॅनसन, प्रबंधक फादर जेम्स, उपप्राचार्य फादर राॅनी, विभाग प्रभारी एवं शालाध्यक्ष अश्वथ अरोरा ने पं नेहरू को पुष्पांजलि अर्पित की। कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण शिक्षकों द्वारा प्रस्तुत नृत्य एवं गीत थे। प्रार्थना नृत्य एवं वाॅलीबुड गीतों पर आधारित नृत्यों की आकर्षक प्रस्तुति दी गई। शिक्षिकाओं के नृत्य नाटक 'पाँच रुपया बारह आना' ने सब का मन मोह लिया। राजस्थानी, गुजराती व पंजाबी नृत्य ने सब में उत्साह एवं जोश भर दिया। शिक्षकों द्वारा सम्पूर्ण भारत की पहचान को फैशन शो के माध्यम से प्रदर्शन कर बच्चों को हैरत में डाल दिया। इस अवसर पर विद्यार्थियों के लिए डी. जे. डान्स विशेष आकर्षण रहा तथा सामुहिक भोजन का कार्यक्रम भी आयोजित किया गया। अश्वथ अरोरा के द्वारा दिए गए धन्यवाद ज्ञापन के साथ कार्यक्रम संपन्न हुआ।


फादर जाॅनसन थरनी, प्राचार्य
श्रीमती मालती दलाल, शिक्षिका